Refine news

electro sex or electrostimulation or electroplay the dangerous sex trend one must be aware of

1/6

जान भी ले सकता है इलेक्ट्रो सेक्स, जानें और रहें सावधान

जान भी ले सकता है इलेक्ट्रो सेक्स, जानें और रहें सावधान

लोग अपनी सेक्स लाइफ को रोमांचक बनाने और ज्यादा से ज्यादा प्लेजर हासिल करने के चक्कर में क्या-क्या नहीं करते। कई कपल्स तो इसके लिए रिस्की सेक्स पोजिशन और अन्य तरीकों का भी सहारा लेते हैं। बीते कुछ सालों में जहां कई इरॉटिक सेक्स ट्रेंड पॉप्युलर हुए और कपल्स को उनके फायदे भी दिखे, तो वहीं एक सेक्स ट्रेंड ऐसा भी देखा गया जो जानलेवा भी साबित हो सकता है। (डिस्क्लेमर: यह जानकारी जागरुकता के लिए दी गई है। इस प्रक्रिया को किसी भी हालत में अपनाने की कोशिश न करें।) (सभी तस्वीरें: सांकेतिक)

2/6

न्यूड बॉडी पर करंट का इस्तेमाल

न्यूड बॉडी पर करंट का इस्तेमाल

इसका नाम है इलेक्ट्रो सेक्स, जिसे इरॉटिक इलेक्ट्रोस्टिम्युलेशन या फिर इलेक्ट्रोप्ले भी कहा जाता है। यह एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें कपल्स यौन संबंध बनाने के दौरान एक-दूसरे की नेकेड बॉडी पर इलेक्ट्रिसिटी यानी बिजली या करंट का इस्तेमाल करते हैं।

3/6

इन बॉडी पार्ट्स पर मेन फोकस

इन बॉडी पार्ट्स पर मेन फोकस

इसमें बिजली की मदद से चलने वाले सेक्स उपकरणों का इस्तेमाल किया जाता है और उनकी मदद से नर्व्स को स्टिम्युलेट किया जाता है। मेन फोकस प्राइवेट पार्ट की उत्तेजना पर होता है ताकि प्लेजर और ऑर्गेजम को और भी अधिक बढ़ाया जा सके।

4/6

​करंट के जरिए नर्वस सिस्टम स्टिम्युलेट

​करंट के जरिए नर्वस सिस्टम स्टिम्युलेट

कई देशो में इस सेक्स ट्रेंड का चलन सामने आया। हमारा नर्वस सिस्टम बेहद सूक्ष्म इलेक्ट्रिकल सिग्नल के जरिए ऑपरेट करता है और इस सेक्स प्रोसेस में इस्तेमाल होने वाले उपकरण उसी लेवल के इलेक्ट्रिकल सिगनल के जरिए बॉडी पार्ट्स को ट्रिगर करने की कोशिश करते हैं।

5/6

​दशकों से हो रहा इलेक्ट्रोस्टिम्युलेशन का इस्तेमाल

​दशकों से हो रहा इलेक्ट्रोस्टिम्युलेशन का इस्तेमाल

इलेक्ट्रोस्टिम्युलेशन के बारे में विकीपीडिया पर जो जानकारी उपलब्ध है, उसके अनुसार इसका इस्तेमाल 1800 के दशक से लेकर 1920 और 1950 के दशक में भी किया गया। इनमें से कुछ का उपयोग आज भी मेडिकल में किया जाता है। लेकिन बाद में लोगों ने उन्हीं चीजों का इस्तेमाल सेक्शुअल ऐक्टीविटीज के रूप में ढूंढ लिया। हालांकि बाद में ये डिवाइस और इंप्रूव कर दिए गए।

6/6

​इलेक्ट्रो सेक्स से खतरा

​इलेक्ट्रो सेक्स से खतरा

इलेक्ट्रो सेक्स या इलेक्ट्रोस्टिम्युलेशन का सबसे बड़ा खतरा यह है कि अगर इसका गलत इस्तेमाल किया गया तो इसकी वजह से न सिर्फ बॉडी के टिशू डैमेज हो सकते हैं बल्कि मौत भी हो सकती है। अगर उपकरण स्किन पर गलत तरीके से टच हो जाए तो स्किन जल भी सकती है। भले ही इस प्रक्रिया में बेहद कम करंट यानी वोल्टेज का इस्तेमाल होता हो लेकिन यह हार्ट के फंक्शन में प्रॉब्लम पैदा कर सकता है, जिसकी वजह से हार्ट अटैक भी आ सकता है। इसीलिए यह बताना जरूरी है कि उत्सुकता के तौर पर भी इसे फॉलो करने की बिल्कुल भी कोशिश न करें।(डिस्क्लेमर: यह जानकारी जागरुकता के लिए दी गई है। इस प्रक्रिया को किसी भी हालत में अपनाने की कोशिश न करें।)

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share via
Copy link
Powered by Social Snap
Close Bitnami banner
Bitnami